VASTU TIPS : वास्तु शास्त्र के अनुसार कैसी भूमि आपके लिए होगी शुभ ?

Vastu Tips by Hindi Explore

Vastu Tips : हर कोई अपने जीवन मे अपना एक घर बनाना चाहता है। उसकी पहली चाहत होती है कि उसका खुद का एक मकान हो जिसके लिए वह दिन रात एक कर के अपनी जमा पूंजी इकट्ठा करता है जो अपने घर को बनाने में लगा देता है। मकान बनाने से पहले एक भूमि का भाग खरीदना पड़ता है। जिसमे अक्सर लोग जल्दबाज़ी कर देते है। और फिर बाद में कई प्रकार की समस्याएं आती है। प्लाट ख़रीदने से पहले कुछ बातें जो आपको ध्यान रखनी चाहिए आज हम आपको बताते है। वास्तु शास्त्र के अनुसार भूमि खरीदने के कुछ टिप्स जो आपके लिए होंगी लाभदायक।

प्लॉट का आकार के लिए Vastu Tips

वास्तु शास्त्र के अनुसार यदि आप किसी भूमि को खरीदने की योजना बना रहे है तो पहले ये देख ले कि जिस भूमि का भाग आप लेने जा रहे है वह आयताकार या वर्गाकार होना चाहिए। प्लॉट की भुजाये हमेशा समकोण में होनी चाहिए। प्लॉट की भुजाये यदि समकोण में न हो तो यह देख ले कि उसकी सामने की भुजा पीछे की भुजा से बड़ी न हो। ऐसे प्लॉट सिंहमुखी कहलाते है। हा अगर सामने की भुजा पीछे की भुजा से छोटी है तो वह प्लॉट खरीदने योग्य होता है ऐसे प्लॉट को गौमुखी कहा जाता है।

यह भी पढ़ें : अपने घर लिए Best RO Water Purifier की पहचान कैसे करें?

VASTU TIPS FOR BUY A LAND

भूमि स्तर

ज़मीन लेने से पहले ये देख ले कि प्लॉट सड़क के स्तर से ऊंचा हो यदि ऐसा नही है तो मकान बनवाते समय आपको मकान का स्तर सड़क से ऊंचा रखना होगा इसके लिए आपको मकान बनवाते समय ही मिट्टी से भराई करनी होगी फिर उसके बाद मकान बनवाना होगा।

भूमि के आसपास के स्थल

ज़मीन लेने से पहले ये देख लें उसके आस पास या अधिक नज़दीक में शमशान या कब्रिस्तान न हो। आपके प्लॉट के बगल वाले प्लॉट में कोई सार्वजनिक मंदिर या अस्पताल न हो। प्लाट के बगल में कोई कत्लखाना नही होना चाहिए। ये सभी आपके मकान के लिए लाभदायक नही है। इसके विपरीत यदि प्लाट के उत्तर में या पूर्व दिशा में कोई तालाब या नदी हो तक यह शुभ माना जाता है। प्लॉट के दक्षिण दिशा में यदि कोई पहाड़ हो तो यह भी बहुत शुभ माना जाता है।

प्लॉट की दिशा के लिए Vastu Tips

जिस भूमि पर आप मकान बनाने की योजना बना रहे है उस पर ये देख ले कि उस प्लॉट की दिशा कैसी है। दिशा का महत्व हर मकान के लिए बहुत अधिक होता है। प्लॉट लेने से पहले ये देख ले कि उसकी दिशा किस ओर की है। प्लाट का मुख्य द्वार हमेशा पूर्व या उत्तर दिशा की ओर होना चाहिए। अर्थात सड़क या तो प्लॉट के पूर्व दिशा में हो या उत्तर दिशा में या फिर दोनों ओर हो। वास्तु शास्त्र के अनुसार ये दोनों दिशायें किसी भी भूमि के लिए शुभ होती है। बाकी दिशाओं वाले प्लाट आप न खरीदें तो बेहतर है।

वास्तु शास्त्र के अनुसार शुभ भूमि जांचने के उपाय।

वास्तु शास्त्र के अनुसार यदि आप जानना चाहते है कि जो भूमि का भाग आप लेने वाले है क्या वह भूमि आपके लिए शुभ है तो इसके लिए आपको उस भूमि पर कुछ प्रयोग करने होंगे। आइये जानते है वह प्रयोग…

सबसे पहले आप उस भूमि में एक हाथ लंबा और एक हाथ चौड़ा गड्ढा कर ले। उसमे से निकली मिट्टी से पत्थर को अलग कर दे। फिर केवल मिट्टी को उसी गड्ढे में भरें यदि गड्ढा भरने के बाद भी मिट्टी बच जाती है तो वह भूमि आपके लिए बहुत शुभ है और अगर मिट्टी पूरी आ जाती है तो भूमि आपके लिए सम है और अगर मिट्टी कम पड़ जाती है तो आप उस भूमि को न ही खरीदे तो बेहतर होगा क्योकि तब यह आपके लिए शुभ नही होगा।

यह भी पढ़ें : Electric Cars in India, Company, Upcoming Models, Features से जुडी सभी जानकारियॉ Hindi में।

एक प्रयोग आप और भी कर सकते है। इसके लिए आप उस भूमि पर एक हाथ लंबा और एक हाथ चौड़ा गड्ढा खोदे फिर उसे पानी से पूरा भर दें। यदि वह पानी उस गढ्ढे में तुरंत सोख ले तो यह भूमि आपके लिए शुभ नही है। और अगर गड्ढे का पानी जैसे का तैसा बना रहे तो समझ लीजिए कि यह भूमि आपके लिए बहुत शुभ है।

शुभ भूमि खरीदने के लिए वास्तु शास्त्र से जुड़ी ये जानकारियां आपको किसी लगी आप हमें कमेंट कर के बताएं। इस पोस्ट को पूरा पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *